रविवार, 27 सितंबर 2009

दुर्गाअष्टमी +विजया दशमी की बधाइयां

एक कांग्रेसी
ओये झाल्लेया पी.एम्.के जनम दिन+दुर्गा अस्ठ्मी+विजया दशमी की बधाइयां ओये इन त्योहारों में तो जी भर पूजा करके पुण्य कमाया होगा खूब हलवा पूरी का प्रसाद उडाया होगा
झल्ला बिजली बचाओ +पानी बचाओ
ओ मेरे भोले राजा जी त्योहारों की आप सभी को भी मुबारकां लेकिन इन त्योहारों में भक्तजनों ने अपने घर पूजा करने के लिए मेरी छोटी सी बगिया के सारे फूल तोड़ लिए लगातार ९ दिन तला+गरिष्ट भोजन करना पडा इससे तो अछे खासे पेट की ऐसी की तैसी हो गई अगले त्योहारों के लिए झल्ले की निशुल्क सलाह हे की
[१]भय्या पूजा के लिए अपने घरों में [छोटी सी ही सही ]बगिया लगा कर कम से कम पूजा के लायक फूल पैदा कर लो
[2]फ्लैट में रहने वाले नुक्लीयर परिवार गमला लगाएं
[3]तला +गरिष्ठ भोजन करने से पहले उसे पचाने का भी इन्तेजाम जरूर करलें

1 टिप्पणी:

  1. नेक सलाह के लिए धन्यवाद. विजयादशमी की शुभकामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं